बुधवार, 14 अक्तूबर 2009

शुभ दीपावली

लोक - मंगल , चेतना ,
नव - जागरण ।
हो प्रकाशित विश्व का
अन्त:करण ।
माँगता हूँ मैँ
ज़माने के लिए ,
एक दीपक ,
एक उजली सी किरण ।
- रमेश दीक्षित , टिमरनी

5 टिप्‍पणियां:

Nirmla Kapila ने कहा…

बहुत सुन्दर धन्यवाद दीपावली की शुभकामनायें

अर्शिया ने कहा…

आपको भी दीपावली एवं धनतेरस की हार्दिक शुभकामनाएँ।
----------
डिस्कस लगाएं, सुरक्षित कमेंट पाएँ

समयचक्र - महेंद्र मिश्र ने कहा…

दीपावली पर्व की हार्दिक शुभकामना...

पं.डी.के.शर्मा"वत्स" ने कहा…

शुभ संदेश देती अति सुन्दर रचना....
दीपोत्सव की हार्दिक शुभकामनाऎँ!!!!!!!

गिरीश बिल्लोरे 'मुकुल' ने कहा…

Hardik shubh kamanayen
sweekariye ji